यूपी मजदूर 1000 रुपए भत्ता स्कीम 2020 कोरोना वायरस अनुदान आवेदन

यूपी मजदूर 1000 रुपए भत्ता स्कीम 2020 कोरोना वायरस अनुदान आवेदन | मजदूर भत्ता योजना उत्तर प्रदेश | Majdur Bhatta Yojana Online Apply | मजदूर भत्ता योजना फॉर्म | Majdur Bhatta Yojana in Hindi, up majdoor 1000 Rs Bhatta yojana | योगी सरकार मजदूर भत्ता योजना।

उत्तर प्रदेश: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है, और ऐसे में समय रहते इस पर नियन्त्रण करना बहुत जरुरी है। ऐसे में देश की केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा युद्धस्तर पर कार्य किये जा रहे है, ताकि देश में कम-से-कम लोग कोरोना की चपेट में आये और इसे पूरी तरह खत्म किया जा सके ।

यूपी मजदूर 1000 रुपए भत्ता योजना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सरकार तत्काल प्रभाव से 35 लाख मजदूरों को भरण-पोषण के लिए 1000 रुपये प्रति व्यक्ति देगी। यह भुगतान डीबीटी के माध्यम से सीधे अकाउंट में भेजा जाएगा। उन्होंने मनरेगा मजदूरों को तुरंत भुगतान देने का ऐलान किया है। इसी के साथ ही उन्होंने 1.65 करोड़ से ज्यादा अन्त्योदय योजना, मनरेगा और श्रम विभाग में पंजीकृत निर्माण श्रमिक एवं दिहाड़ी मजदूरों को एक माह का निशुल्क राशन अप्रैल में उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं।

UP Majdur Bhatta Yojana 2020 Highlights

योजना का नामयूपी मजदूर 1000 रुपए भत्ता
इनके द्वारा शुरू की गयीमुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक21 मार्च 2020
लाभार्थीराज्य के मजदूर परिवार
उद्देश्यराज्य के मजदूरों को भत्ता प्रदान करना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना के कारण कारोबार में सुस्ती का असर दिन प्रतिदिन आजीविका कमाने वाले लोगों पर भी पड़ रहा है। इसके लिए सरकार ने वित्त मंत्री सुरेश खन्ना के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर दिहाड़ी मजदूरों के लिए प्रदेश सरकार ने भरण-भोषण के भत्ते की मंजूरी दी है। प्रदेश के अंदर श्रम विभाग में 20.37 लाख श्रमिक पंजीकृत हैं। भरण पोषण के रूप में एक हजार रुपये डीबीटी के माध्यम से उनके अकाउंट में भेजा जाएगा। जिन श्रमिकों के खाते नहीं है, उनके खाते यथाशीघ्र खुलवाकर विभाग में लेबर सेस फंड से सभी श्रमिकों को प्रतिमाह 1000 रुपये डीटीबीटी के माध्यम से उपलब्ध करवाए जाएंगे।

up majdoor 1000 Rs Bhatta yojana

इसी के चलते उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि अब तक UP में 23 लोग वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं, जिनमे से 9 लोग ठीक हो गये है । साथ ही उन्होंने राज्य के मजदूरों को भत्ते के रूप में 1000 रुपये मासिक दिए जाने की घोषणा भी की है ।

यूपी मजदूर 1000 रुपए भत्ता

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में अभी तक कुल 23 लोग संक्रमित पाए गये हैं जिनमें से 9 ठीक हो गये हैं. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोनावायरस से एहतियात के लिए हर संभव सावधानी बरत रही है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा इस दौरान 1000 रुपये प्रत्येक 15 लाख दिहाड़ी मजदूर और 20.37 लाख निर्माण श्रमिकों को दिया जाएगा.

सीएम ने कहा कि गैरजरूरी यात्रा से लोगों को रोका गया है. मजदूरों के खाते में 1000 ट्रांसफर करेंगे.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोनावायरस से एहतियात के लिए हर संभव सावधानी बरत रही है. हमें इस संक्रमण को हर हाल में रोकना होगा. देश में कोरोनावायरस अभी स्टेज2 पर है. अगर हम इसे अभी रोकने पर कामयाब होते हैं तो यह दुनिया के लिए भी एक मैसेज होगा.

योगी सरकार मजदूर भत्ता योजना

मुख्यमंत्री योगी ने मनरेगा के मजदूरों को तत्काल मजदूरी का भुगतान करने के निर्देश देते हुए कहा है कि केंद्र सरकार से करीब 556 करोड़ रुपए की धनराशि के भुगतान की कार्यवाही तत्काल मार्च 2020 में ही कराई जाएगी। इसी के साथ उन्होंने अन्त्योदय योजना, मनरेगा और श्रमि विभाग में पंजीकृत निर्माण श्रमिक एवं दिहाड़ी मजदूरों करीब 1 करोड़ 65 लाख 31 हजार जरूरतमंदों को एक माह का निशुल्क राशन अप्रैल में उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं। इस पर करीब 64.50 करोड़ का व्ययभार आएगा। पीडीएस दुकानों के जरिए अनाज दिया जाएगा। इसके लिए नोडल अफसर तैनात किए गए हैं। इन परिवारों को 20 किलो गेहूं, 15 किलो चावल मुफ्त मिलेगा।

Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana की पात्रता

  • श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत मजदूरों को इस योजना का लाभ मिलेगा ।
  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
  • अगर आपके पास श्रम विभाग, नगर विकास या ग्राम सभाओं में से किसी का भी कोई पंजीकृत सर्टिफिकेट या दस्तावेज नहीं है तो आपको भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

उप्र मजदूर भत्ता योजना में आवेदन कैसे करे?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें अपने सभी दस्तावेज़ों को लेकर अपना पंजीकरण श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम विभाग द्वारा करवाना होगा । और जो पहले से श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम विभाग द्वारा पंजीकृत है तो उन्हें यूपी मजदूर 1000 रुपए भत्ता योजना के तहत 1000-1000 रूपए दिए जाएंगे। यह पैसा लेने के लिए आपको कहीं जाने की आवश्यकता नहीं होगी। यह धन सीधा मजदूरों के खातों में ट्रांसफर कर दिया जाएगा।इस योजना का लाभ पंजीकरण के बाद ही मिलेगा ।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश में लागू विभिन्न पेंशन योजनाओं के तहत 83.83 लाख लाभार्थियों को दी जाने वाली त्रैमासिक पेंशन की धनराशि को अब दो माह की अग्रिम पेंशन अप्रैल महीने में ही दी जाएगी। इसमें वृद्धावस्था पेंशन, दिव्यांगजन सशक्तिकरण पेंशन और निराश्रित विधवा के भरण पोषण पेंशन के लाभार्थी शामिल हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि इसके बाद भी अगर कोई असहाय व्यक्ति बच जाता है, जिसके पास अपने व अपने परिवार के भरण पोषण की व्यवस्था नहीं है, उसकी भी सरकार पूरी मदद करेगी। इसके लिए जिलाधिकारी द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में खंड विकास अधिकारी व ग्राम पंचायत अधिकारी की समिति तथा नगरीय क्षेत्रों में उपजिलाधिकारी व नगर मजिस्ट्रेट व संबंधित नगर निकायों के आयुक्त व अधिशासी अधिकारी की समिति की संस्तुति पर 1000 रुपए प्रतिमाह की सहायता उपलब्ध कराई। 

Leave a Comment