(नारी) स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 ऑनलाइन CSC रजिस्ट्रेशन

स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 ऑनलाइन CSC रजिस्ट्रेशन | Stree Swabhiman Yojana Online Apply | नारी स्वाभिमान योजना 2020 | महिला स्वाभिमान योजना | स्त्री स्वाभिमान योजना 12000 | स्त्री स्वाभिमान योजना ऑनलाइन फॉर्म, लाभ, पात्रता, जरूरी दस्तावेज की जनकारी हिंदी में पढ़े इस ब्लॉग में.

नमस्कार दोस्तों। आज हम आपको अपनी वेबसाइट राज्य योजना पर स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 की जानकारी देने के लिए यह पोस्ट लिख रहे हैं। दोस्तों इस योजना को नारी स्वाभिमान योजना एवं महिला स्वाभिमान योजना के नाम से भी जाना जाता है। आधिकारिक तौर पर इस योजना को 27 जनवरी 2018 को शुरू किया गया था। यानी कि इस साल फरवरी में इस योजना को लागू हुए पूरे 2 वर्ष हो जाएंगे। सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार लाना है।

वैसे तो हमारे राज्य एवं केंद्र सरकार है महिलाओं के लिए कई प्रकार की योजनाएं शुरू करती रहती हैं। लेकिन जब से स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 को शुरू किया गया है इस योजना से लाखों महिलाएं जुड़ी हैं। इस योजना से जुड़ कर महिलाएं अपने स्वास्थ्य एवं अपने स्वच्छता के लिए जानकारी प्राप्त कर सकती हैं। आज भी भारत में रहने वाली महिलाएं जो कि मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में रहती हैं वह अपने स्वास्थ्य एवं सफाई का इतना ध्यान नहीं रखती। जिस कारण उन्हें के प्रकार के संक्रमण रोग लगने की आशंका बनी रहती है। इस स्थिति को कम करने के लिए स्त्री स्वाभिमान योजना को शुरू किया गया है।

स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 | Stree Swabhiman Yojana

स्त्री स्वाभिमान योजना को केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री रवि शंकर प्रसाद द्वारा शुरू किया गया। इस योजना को शुरू करते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि इस योजना से महिलाओं के स्वास्थ्य एवं सेहत में सुधार आएगा। इस योजना की घोषणा एवं शुरुआत सिरी फोर्ट ऑडिटोरियम नई दिल्ली में सीएससी महिला रियली राष्ट्रीय सम्मान के में की गई है। जब से स्त्री स्वाभिमान योजना को शुरू किया गया है महिलाएं इसके लिए सीएससी केंद्रों में जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकती हैं।इसका अन्य एवं महत्वपूर्ण उद्देश्य यह भी है कि ग्रामीण एवं दूर-दराज के क्षेत्रों में रखने वाली महिलाओं एवं लड़कियों को पर्यावरण के अनुकूल सेनेटरी पैड का वितरण किया जाए। क्योंकि बहुत से क्षेत्रों में महिलाएं इस प्रकार के सैलेरी पैड का इस्तेमाल नहीं करती जिससे कि उन्हें एक प्रकार के संक्रमित बीमारियां होने का डर बना रहता है। इसके साथ ही स्त्री स्वाभिमान के अंतर्गत उत्पादन इकाइयां स्थापित की जाएंगी। जिसमें कि किसी भी गांव की 5 से 7 महिलाएं मिलकर इस इकाई को शुरू करके रोजगार का अवसर भी उत्पन्न कर सकती हैं।

stree swabhiman yojana 2020 is started by the Telecom Minister Shri Ravi Shankar Prasad. This scheme will improve the conduction of women’s in India. This scheme will encourage women’s for safety. Under this scheme women of India also set up a New Sanitary Pad Industry. These all sanitary pads and Eco Friendly and Economically less in Price.

नारी स्वाभिमान योजना 2020

CSC के साथ मिलकर नारी स्वाभिमान योजना को पूरे भारतवर्ष में लागू किया जाएगा। इस योजना को हर गांव में क्षेत्र तक पहुंचाने के लिए बिल्कुल जमीनी स्तर से लागू करने का लक्ष्य केंद्र सरकार ने रखा है। इस द्वारा निर्मित नए सनटेरी पैड अधिक अनुकूल होंगे एवं सस्ते होंगे। स्त्री स्वाभिमान योजना के अंतर्गत पूरे भारतवर्ष में सेनेटरी नैपकिन निर्माण की इकाइयों को स्थापित किया जाएगा। इन इकाइयों का संचालन महिला उद्यमियों द्वारा किया जाएगा जिससे कि महिलाओं को स्वरोजगार का भी एक साधन मिलेगा।

मौजूदा समय में पूरे भारतवर्ष में लगभग 15 सेनेटरी पैड नैपकिन की इकाइयां विभिन्न हिस्सों में चलाई जा रही हैं। हालांकि सबका मानना है केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई योजना महिलाओं के लिए हर तरफ से लाभदायक है। इस योजना के सुचारू रूप से काम करने के बाद महिलाओं के मासिक धर्म स्वच्छता एवं उनके स्वास्थ्य में सुधार होगा। इन इकाइयों के पूर्ण रूप से गठन के बाद महिलाओं को स्वरोजगार का एक साधन मिलेगा जिससे कि वह प्रतिदिन अच्छी कमाई कर सकेंगी।

किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना

स्त्री स्वाभिमान योजना 12000

सीएससी ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाएं, महावारी के दिनों में सेनेटरी पैड का इस्तेमाल नहीं करती। जिससे कि उनके स्वास्थ्य पर के प्रकार के दुष्प्रभाव पड़ते हैं। सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना से महिलाओं को बहुत ही कम कीमत पर साफ-सुथरे सेंटी पैड वितरित किए जाएंगे। अगर आपको लगता है कि यह सेंटी पैड महंगे होंगे तो ऐसा कुछ भी नहीं है। इसके उपयोग से महिलाएं स्वस्थ एवं स्वच्छ करेंगे।

योजना के मुख्य बिंदु

  1. स्त्री स्वाभिमान योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा स्थापित की गई इकाइयों से बनाए गए सेनेटरी पैड महिलाओं एवं लड़कियों में वितरित किए जाएंगे।
  2. केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई इस मुहिम से, महिलाओं एवं कन्याओं को स्वच्छता एवं स्वास्थ्य जीवन जीने में सहायता मिलेगी, एवं सेंटी पैड का उपयोग करने के प्रति जागरूकता फैलेगी।
  3. इसके साथ साथ ही, महिलाएं स्त्री स्वाभिमान योजना के अंतर्गत सीएससी रजिस्ट्रेशन करके सेनेटरी पैड निर्माण की इकाई लगाकर अपना काम शुरू कर सकती हैं।
  4. जिसमें की मुख्य रूप से महिला स्वरोजगार से जुड़कर अच्छी आमदनी कर सकती हैं।
  5. इस योजना के शुरू होने के बाद से अभी पूरे भारतवर्ष में लगभग 15 सेनेटरी पैड निर्माण इकाइयां उपलब्ध है।
  6. केंद्र सरकार का भी यही लक्ष्य है कि इस योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक महिलाओं को अपनी इस योजना से जोड़ा जाए।

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना

स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 ऑनलाइन CSC रजिस्ट्रेशन

अगर आप स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 के लिए रजिस्ट्रेशन या ऑनलाइन आवेदन करना चाहती हैं तो आपको रजिस्ट्रेशन वेबसाइट पर जाना होगा।

यह रजिस्ट्रेशन वेबसाइट है:- https://register.csc.gov.in/register

स्त्री स्वाभिमान योजना 2020

सीएससी रजिस्ट्रेशन पेज पर पहुंचने के बाद, आपको अपने पंजीकरण प्रत्येक पहले चरण में, अपने आप को सत्यापित करना है जिसके लिए आपको आपका मोबाइल नंबर एवं कैप्चा कोड भटके समेट के बटन पर क्लिक करना होगा.

अब आपके दिए हुए नंबर पर एक ओटीपी लिखा हुआ आएगा। इस ओटीपी कोड को आपको वेबसाइट में अंकित करने के बाद अपना ईमेल आईडी एवं कैप्चा कोड भरना है। अब आपके ईमेल आईडी पर भी एक ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को भी आपको वेबसाइट देखने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करते हुए आगे बढ़ना है।

अब आपके सामने एक आवेदन फार्म/ रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा। जिसमें आपको आपका vid नंबर, आपका नाम, लिंग जन्मतिथि एवं राज्य इत्यादि का चुनाव करने के बाद नीचे दिए हुए सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।

इसमें सबमिट करने के बाद आप की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तथा आपको अंत में एक रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त होगा।

इस रजिस्ट्रेशन नंबर की सहायता से आप अपने आवेदन की स्थिति की जांच कभी भी कर सकते हैं।

केंद्र सरकार की योजनाएं

FAQ (महत्वपूर्ण प्रश्न)

स्त्री स्वाभिमान योजना क्या है?

स्त्री स्वाभिमान योजना की शुरुआत केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद जी ने की है। इस योजना के अंतर्गत, महिलाओं को उनके स्वास्थ्य एवं सफाई के प्रति जागरूक करना इस योजना का मुख्य लक्ष्य। इस योजना के अंतर्गत भारत के ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाली महिलाओं को बिल्कुल कम कीमत पर सेनेटरी पैड का वितरण करना इस योजना के अंतर्गत एक महत्वपूर्ण बिंदु है।

स्त्री स्वाभिमान योजना से स्वरोजगार कैसे शुरू किया जा सकता है?

इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को बहुत ही कम कीमत पर सेनेटरी पैड उपलब्ध कराए जाते हैं। इसलिए अगर कोई महिला स्वरोजगार शुरू करना चाहती है तो वह यह सेनेटरी पैड मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाकर इस योजना से जुड़ सकती है। सरकार का भी यही उद्देश्य है कि अधिक से अधिक महिलाओं को नारी / स्त्री स्वाभिमान योजना से जोड़ा जाए। इसके अलावा भारत का कोई भी नागरिक निवेश में उपयोग होने वाली लागत लगाकर इसकी इकाई स्थापित कर सकता है।

इस योजना (MMU)के अंतर्गत इकाई स्थापित करने के लिए किन-किन चीजों की आवश्यकता होगी?

एक इकाई क्यों करने के लिए आपको कच्चे माल, सेनेटरी पैड डाई कटिंग मशीन, प्रेसिंग प्लेट, गमिंग मशीन, यूवी रेडिएशन सैनिटाइजर, सेनेटरी पैड जोड़ने हेतु गम, हीट सील मशीन इत्यादि।

स्त्री स्वाभिमान योजना के अंतर्गत बनाए गए सेनेटरी पैड की क्वालिटी कैसी होगी?

इस योजना के अंतर्गत बनाए गए सेनेटरी पैड जेल लॉक टेक्नोलॉजी पर बनाए जाएंगे। जिसमें की लीकेज की बिल्कुल भी संभावना नहीं होगी। इसके साथ ही वह किसी भी प्रकार के तरल पदार्थ को 6 से 8 घंटों तक रोकने में सक्षम होगा।

इस योजना के अंतर्गत कितने सेनेटरी पैड एक पैकेट में वितरित किए जाएंगे?

सरकार द्वारा तय किए गए मानकों के अनुसार लगभग 8 सेनेटरी नैपकिन एक सिंगल पैकेट में भरे जाएंगे।

स्त्री स्वाभिमान योजना के अंतर्गत बनाए गए प्रोडक्ट को कहां बेचा जाएगा?

आप इस प्रोडक्ट को अपने किसी भी नजदीकी स्कूल, कॉलेज, मेडिकल स्टोर अथवा अस्पतालों में भेज सकते हैं।

हम यही आशा करते हैं हमारे द्वारा दी गई स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 की जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी। इसलिए जो भी महिला इस योजना से जोड़कर स्वरोजगार शुरू करना चाहती है उसके लिए यह एक बहुत ही सुनहरी मौका है। इसके साथ ही सरकार अपनी इस योजना को समय-समय पर बदलाव के साथ दोबारा लोगों तक पहुंचाने में कामयाब हुई है। इसलिए जितनी भी महिलाएं इस योजना से जुड़ी है वह समय-समय पर इस योजना का लाभ ले रही हैं।