सिलिकोसिस पेंशन योजना राजस्थान | बीमारी सहायता राशि आवेदन फार्म

सिलिकोसिस पेंशन योजना राजस्थान | सिलिकोसिस बीमारी सहायता राशि आवेदन फार्म | silicosis pension yojana Rajasthan | सिलिकोसिस सहायता राशि 2020-21 | सिलिकोसिस बीमारी पेंशन योजना की जानकारी हिन्दी में.

नमस्कार दोस्तों। आज हम आपके सामने राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई सिलिकोसिस पीड़ित लोगों के लिए एक नई योजना की जानकारी लेकर आए हैं। दोस्तों इस योजना का नाम है सिलिकोसिस पेंशन योजना ( silicosis pension yojana Rajasthan ) । यह योजना राज्य के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा सिलिकोसिस पीड़ित लोगों के लिए शुरू की गई है। सिलिकोसिस मुख्य रूप से एक ऐसी बीमारी है जो कि खनन एवं मिनरल क्षेत्र से जुड़े श्रमिकों को होती है। राजस्थान में बड़े स्तर पर मार्बल की बहुत बड़ी-बड़ी खाने हैं जहां पर हजारों मजदूर काम करते हैं। लंबे समय तक ऐसी खानों में काम करने से सिलिकोसिस नाम की बीमारी हो जाती है जिससे कि मरीजों को सांस लेने में बहुत अधिक तकलीफ होती है तथा उनके लिए जीवन निर्वाह करना मुश्किल हो जाता है।

सिलिकोसिस पेंशन योजना राजस्थान

हम आपको बता दें कि यह अभी तक एक लाइलाज बीमारी है जिसका राजस्थान में कोई भी इलाज नहीं है। ऐसे ही लोगों के लिए सिलिकोसिस पेंशन योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई है। क्योंकि ऐसे मरीज जो कि इस बीमारी से पीड़ित होते हैं, उन्हें अपना जीवन यापन करने में बहुत अधिक परेशानी होती है। उनके जीवन को आसान बनाने के लिए ही राज्य के अशोक गहलोत सरकार ने। खानों में काम करने वाले मजदूरों एवं श्रमिकों के लिए इस पेंशन योजना को शुरू किया गया है। अपने सरकार की पहली वर्षगांठ पर सरकार एक नई सिलिकोसिस पेंशन नीति लेकर आई है जिसमें कि इसे भी पेंशन योजना के अंतर्गत सम्मिलित किया गया है। ऐसा कोई भी व्यक्ति जो किसी अन्य राज्य से संबंधित है, लेकिन मैं राजस्थान में काम कर रहा है, वह भी सिलिकोसिस पेंशन योजना राजस्थान का हकदार होगा।

राजस्थान सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए यह पहली एक ऐसी पेंशन योजना है जो बहुत ही लाभदायक है। लंबे समय से सामाजिक संस्थाओं एवं मानवाधिकार आयोग द्वारा इसके लिए कार्य किए जा रहे हैं। जिसके बाद अब जाकर सिलिकोसिस पीड़ित परिवारों को अपना जीवन निर्वाह करने के लिए सरकार द्वारा मासिक पेंशन दी जाएगी। यह पेंशन राशि लगभग 1500 रुपए सीधे पीड़ित के खाते में जमा की जाएगी। पेंशन प्राप्त करने के लिए उन्हें किसी भी सरकारी दफ्तर अथवा कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं होगी। ऐसे श्रमिक चौकी मिनरल और माइनिंग के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं तथा कार्य कर रहे हैं उनके लिए यह एक बहुत अच्छी खबर है। पहले इस पेंशन योजना के लिए श्रमिकों ने ₹3000 से लेकर ₹4000 तक पेंशन का प्रस्ताव रखा था। लेकिन सरकार द्वारा अभी के लिए लगभग 15 सो रुपए पेंशन प्रतिमा को स्वीकृति प्रदान की है।

silicosis pension yojana Rajasthan

इस योजना के बारे में अधिक जानकारी देते हुए ग्रामीण एवं सामाजिक विकास संस्था के अभय सिंह विकास सिंह तथा मूलचंद शर्मा ने बताया कि राजस्थान के हजारों सिलिकोसिस पीड़ित श्रमिकों को इस योजना का लाभ मिलेगा। इसके साथ ही ऐसे पीड़ितों के परिवार जोकीन के ऊपर आश्रित हैं उन्हें इस योजना से सहारा होगा। माइनिंग क्षेत्र एवं मिनरल फैक्ट्री संचालक द्वारा अपने लालच के चलते श्रमिकों को अच्छे उपकरण एवं सावधानी के लिए दिए जाने वाले मास्क इत्यादि ना उपलब्ध कराने से इस प्रकार की बीमारियां श्रमिकों को हो जाते हैं। इस योजना का मुख्य रूप से श्रमिकों के स्वास्थ्य एवं कल्याण के लिए शुरू किया गया है जिससे कि वह सिलिकोसिस जैसी बीमारी के बारे में सजग भी हो। सरकार द्वारा तैयार की गई एक रिपोर्ट के अनुसार इस समय राजस्थान में लगभग 21000 लोग सिलिकोसिस बीमारी से पीड़ित हैं।

सिलिकोसिस पेंशन योजना

सिलिकोसिस पेंशन योजना का लाभ प्रदेश के बाहरी क्षेत्र से आने वाले श्रमिकों को भी मिलेगा। सिलिकोसिस के लिए पेंशन प्रदान करने वाला राजस्थान पहला ऐसा राज्य बन चुका है।

सिलिकोसिस सहायता राशि

इस योजना के अंतर्गत पेंशन राशि 1500 रुपए मासिक निर्धारित की गई है। हालांकि श्रमिकों द्वारा इसके लिए पेंशन 3000 से ₹4000 करने की मांग की गई थी। लेकिन अभी के लिए सरकार द्वारा केवल 1500 रुपए मासिक की पेंशन राशि स्वीकृत की गई है।

राजस्थान राज्य सरकार की योजनायें

सिलिकोसिस पेंशन राजस्थान पात्रता

  1. ऐसा श्रमिक जो कि सिलिकोसिस बीमारी से पीड़ित है तथा उसके पास किसी भी प्राधिकृत चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र है वह सिलिकोसिस पेंशन योजना के लिए पात्र होगा।
  2. राजस्थान अथवा अन्य किसी राज्य क श्रमिक जो कि राजस्थान में ही कार्य करने के दौरान सिलिकोसिस बीमारी से पीड़ित हुआ है उसे भी इस योजना के अंतर्गत पेंशन दी जाएगी।
  3. अगर पीड़ित पहले से ही किसी अन्य पेंशन अथवा सरकारी योजना का लाभ ले रहा है तो ऐसी स्थिति में जिसमें उसे अधिक लाभ मिलेगा उसमें से एक पेंशन उसे दी जाएगी।
  4. इस योजना का लाभ लेने के लिए आयु की कोई भी बाध्यता नहीं रखी गई है। किसी भी आयु के व्यक्ति इस पेंशन के लिए आवेदन कर सकता है।
  5. ऑनलाइन सिलिकोसिस बीमारी का प्रमाण पत्र जारी होने के बाद जल्द से जल्द पेंशन स्वीकृत करके पेंशन देना शुरू की जाएगी।

सिलिकोसिस बीमारी पेंशन योजना पंजीकरण फार्म

  1. आवेदन करने के लिए आपको राजस्थान सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन करना है।
  2. वहां पर जाकर आप सिलिकोसिस पेंशन योजना राजस्थान का आवेदन फार्म डाउनलोड कर सकते हैं।
  3. इसके अलावा आप अपने किसी भी नजदीकी तहसील अथवा ब्लॉक ऑफिस में जाकर इस योजना के बारे में पूछ सकते हैं तथा आवेदन फार्म प्राप्त कर सकते हैं।
  4. वहां पर आपको यह भी पता लग जाएगा कि इस आवेदन फार्म को कहां जमा करना है।

हम यही आशा करते हैं कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा राजस्थान के सिलिकोसिस पीड़ितों के लिए शुरू की गई पेंशन योजना मरीजों के लिए लाभदायक सिद्ध होगी। क्योंकि हम जानते हैं सिलिकोसिस एक ऐसी बीमारी है जिसका अभी तक कोई भी इलाज नहीं है। ऐसी स्थिति में श्रमिक पेंशन योजना का लाभ लेकर अपने जीवन को आसान बना सकते हैं। जिससे कि उन्हें किसी के आगे हाथ फैलाने की आवश्यकता नहीं होगी और वह अपना जीवन निर्वाह आसानी से कर सकते हैं।

Leave a Comment