कृषि कुंभ मेला 2020 जानकारी एवं कहाँ आयोजित होगा | Krishi Kumbh Mela

कृषि कुंभ मेला 2020 जानकारी | कृषि कुम्भ मेला 2020 कहाँ आयोजित होगा | Krishi Kumbh Mela 2020 | Farmer Fair India.

हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी देश के किसी एक राज्य में कृषि कुंभ मेला 2020 का आयोजन किया जाएगा। 2018 में यह कृषि कुंभ मेला लखनऊ में आयोजित किया गया था जिसका उद्घाटन उस समय के कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह एवं यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा किया गया। इसके बाद 2019 में यह कृषि कुंभ मेला बिहार के ऐतिहासिक शहर मोतिहारी में लगाया गया। कृषि कुंभ मेला आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य किसानों को बाहर की तकनीक के बारे में अवगत करवाना तथा कृषि में हो रहे नए-नए बदलावों की जानकारी देना है।

इसके साथ ही किसान इन कृषि मेले में आकर अपने आप को नई तकनीक के साथ जोड़ सकते हैं तथा नए नए उपकरणों की आप कर सकते हैं।भारत एक कृषि प्रधान देश है जहां पर बहुत बड़े स्तर पर कृषि की जाती है। भारत में हर प्रकार की खेती की जाती है चाहे वह की गेहूं, बाजरा, चावल, दाल, मक्का, ज्वार, से लेकर हर प्रकार के फल एवं सब्जियों का उत्पादन किया जाता है। कृषि कुंभ मेला 2020 को आयोजित करने का उद्देश्य ही किसानों को इन सब फसलों के बारे में जानकारी प्रदान करना है।

कृषि कुंभ मेला 2020 | Krishi Kumbh Mela 2020

भारत में बहुत बड़े स्तर पर करने की भी खेती की जाती है। गन्ना एक ऐसी खेती है जो कि हर किसान करता है तथा जिससे आमदनी बहुत अधिक होती हैं। लेकिन समय के साथ साथ खेती में आ रहे बदलावों एवं नए-नए कीटों के कारण किसानों को समस्याएं आती रहती हैं। इन सभी से निपटने के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर कृषि कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है जिससे कि किसानों को नई तकनीक के बारे में जानकारी दी जाए।

इसके अलावा कृषि मेलों में देश से विभिन्न किसानों को भी बुलाया जाता है जिनकी अपने क्षेत्र में खेती बहुत अच्छी हो रही है। इसके साथ ही वह किसान वहां पर मौजूद अन्य किसानों से अपनी राय संजय करते हैं तथा उन्हें बताते हैं कि कैसे उन्होंने अपनी फसल से इतना अच्छा मुनाफा पाया तथा उनके खेती करने का क्या तरीका है। जब यह मेला उत्तर प्रदेश में आयोजित किया गया था तब लगभग 75 जिलों से चुनिंदा किसान, पूरे देश विदेश में मशहूर खेती से जुड़े वैज्ञानिक विभिन्न औद्योगिक संस्थाओं के प्रतिनिधि इस मेले में उपस्थित रहे थे। तथा किसानों द्वारा पूछे गए प्रश्नों एवं उनकी समस्याओं का समाधान उनके द्वारा किया गया। इसके साथ ही कृषि मेले में कीटनाशकों से लेकर कृषि उपकरण एवं कृषि सामग्री बनाने वाली कंपनियां भी आती है। उनके आने का मुख्य उद्देश्य किसानों को नई तकनीक के बारे में बताना है।

कामधेनु योजना लोन 2020

अगर हम सिर्फ उत्तर प्रदेश की बात करें तो लगभग ढाई करोड़ परिवार खेती-बाड़ी करते हैं। जिनमें लगभग 92।5 छोटे एवं सीमांत किसान है। जो बहुत बड़े स्तर पर खेती नहीं करते और जिनके पास अधिक भूमि नहीं है। अगर हम खेती की बात करें तो उत्तर प्रदेश में ही 28% लोगों की मुख्य आय का स्त्रोत खेती है। कृषि कुंभ मेला 2020 के आयोजन के साथ ही कृषि से जुड़ी कंपनियां एवं किसानों को नई जानकारी प्राप्त करने का यह एक सुनहरा अवसर होगा। जिस तरह हमारे प्रधानमंत्री का कहना है कि उनका सपना है 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना। अगर किसान इसी तरह नए उपकरण एवं नए तरीके से खेती करता है तो 2022 तक वह अपनी खेती से होने वाली आमदनी को दुगना आसानी से कर पाएगा यह हमारा मानना है।

कृषि कुम्भ मेला २०२० की जानकारी

दूसरा सबसे बड़ा कारण कृषि कुंभ मेला 2020 को आयोजित करने का यह है कि किसानों की लागत को कम करना तथा उनकी आमदनी को बढ़ाना। इसका अर्थ यह है कि किसान कम से कम धनराशि खर्च करके एक अच्छी आमदनी उस खेती से प्राप्त करें कर सकता है। हम मान के चलेंगे अगर कोई किसान गेहूं की फसल बोने का निश्चय करता है तो उसमें उसका मुख्य रूप से खर्चा क्या होगा। सबसे पहले खेत जोतने के लिए ट्रैक्टर एवं डीजल का खर्चा किसान को जोड़ना पड़ेगा। इसके बाद गेहूं का बीज किसान को खरीदना पड़ता है जो कि उसे हमेशा अच्छी किसम का ही खरीदना चाहिए। खेत की बुवाई होने के बाद उसमें समय-समय पर उपयोग होने वाली खाद का वितरण एवं समय-समय पर कीटनाशकों का उपयोग भी किसान की खर्चे में जुड़ता है।

कृषि कुम्भ मेला 2020

अंत में जब किसान की फसल पक जाती है, तब फसल की कटाई एवं उसकी छटाई के लिए जो तूफान का खर्चा होता है वह अलग से जुड़ा जाता है। तो इस तरह इस पूरी प्रक्रिया में जितना भी खर्चा होता है अगर किसान अपनी फसल बेचकर उससे दोगुना या चार गुना आमदनी करता है तब उसकी खेती को कामयाब माना जाता है। उनकी खेती को इसी तरह प्रभावी रूप से सफल बनाने हेतु ही इस प्रकार के कृषि कुंभ मेला 2020 का आयोजन किया जाता है।

प्रधानमंत्री विद्या लक्ष्मी योजना

जिसमें कि देश विदेश से किसानों, प्रसिद्ध वैज्ञानिक एवं खेती से जुड़े एक्सपर्ट से आप मिलकर उनसे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। दूसरा सबसे बड़ा उद्देश्य इस मेले का यह है कि सभी कृषि से जुड़े लोग जिनमें की किसान तकनीकी विशेषज्ञ एवं व्यवसाई लोगों को एक सांझा मंच बांटने का मौका मिलेगा। जहां पर वह कृषि आधुनिकरण के तरीके के साथ-साथ पशुपालन जैसे कि मुर्गी पालन, बकरी पालन, मछली पालन एवं सूअर पालन जैसी तकनीक से भी अपनी आमदनी को बढ़ा सकते हैं।

कृषि कुंभ मेला 2020 कहाँ आयोजित होगा

पहले चरण में यह कृषि कुंभ मेला उत्तर प्रदेश में लगाया गया था। क्योंकि उत्तर प्रदेश भारत के सबसे बड़े राज्य में से एक है तथा यहां पर 60 से 70% लोग खेती पर निर्भर है। इसके बाद यह कृषि मेला बिहार के मोतिहारी में लगाया गया। अब 2020 में यह मेला कहां लगाया जाएगा इसकी जानकारी हम आपको जल्द ही देंगे। क्योंकि अभी तक कृषि विभाग भारत सरकार द्वारा इसकी कोई भी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

इसलिए जितने भी हमारे किसान भाई अगले कृषि कुंभ मेला 2020 का इंतजार कर रहे हैं उन्हें थोड़ा और समय इंतजार करना होगा। हम जल्दी अपनी वेबसाइट पर नए कृषि कुंभ मेले 2020 की तिथि / डेट एवं स्थान जहां पर यह मेला लगाया जाएगा उसकी पूरी जानकारी अपनी वेबसाइट पर अपडेट करेंगे। आने वाली कृषि से जुड़ी हर प्रकार की योजनाओं एवं जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट राज्य योजना को सब्सक्राइब करें। इस कृषि मेले से जुड़ी किसी भी प्रकार के सुझाव अथवा प्रश्न के लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं धन्यवाद।

केंद्र सरकार की योजनाएं

FAQ For Krishi Kumbh Mela

भारत सरकार का कृषि कुंभ मेला 2020 कब आयोजित किया जाएगा?

दोस्तों 2018 में यह कृषि कुंभ मेला उत्तर प्रदेश के लखनऊ शहर में आयोजित किया गया था। जिसकी सफलता के बाद अगले वर्ष यानी कि 2019 में यह कृषि कुंभ मेला बिहार के मोतिहारी में आयोजित किया गया जिससे कि बहुत ही सराहना मिली। और इस वर्ष 2020 में यह कृषि कुंभ मेला भारत के किस राज्य में आयोजित किया जाएगा। जिसकी जानकारी जल्द ही अपने पोर्टल पर उपलब्ध करवाएंगे।

कृषि कुंभ मेला लगाने का मुख्य उद्देश्य क्या है?

इस कृषि मेले को लगाने का मुख्य उद्देश्य किसानों को कृषि से जुड़े नए उपकरण नई किस्म के बीज एवं नए कीटनाशकों की जानकारी प्रदान करना है। इसके साथ ही यह मेला किसानों कृषि से जुड़े एक्सपर्टो तथा व्यवसायियों को एक स्थान पर लाने का एक बहुत ही अच्छा माध्यम है।

प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना लिस्ट 2020

क्या इस कृषि कुंभ मेला 2020 से किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी?

जी हां। वह इसलिए क्योंकि किसान यहां पर आए हुए कृषि विशेषज्ञों से अपनी खेती बाड़ी से जुड़ी किसी प्रकार की समस्या की जानकारी ले सकते हैं। जिससे कि वह अपनी खेती में सुधार करके अपनी आमजन को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा यहां पर उपलब्ध ने उपकरणों एवं ने बीज एवं कीटनाशकों की जानकारी लेकर वह इसे अपनी खेती में उपयोग कर सकते है। जिससे कि अवश्य है उनकी आमदनी में वृद्धि होगी।

One Comment

  1. Akhilesh sonkar February 8, 2020 Reply

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *